Skip to Content

Wednesday, March 3rd, 2021

ईएसएल ने किया तीरंदाजी टूर्नामेंट का आयोजन

Be First!
image_pdfimage_print

बोकारो : वेदांता ग्रुप की कम्पनी और राष्ट्र स्तरीय इस्पात उत्पादक ईएसएल स्टील लिमिटेड ने बोकारो जिला तीरंदाजी संघ के सहयोग से टूर्नामेंट का आयोजन किया। आयोजन 6 फरवरी, 2021 को आर्चरी ग्राउंड में किया गया। टूर्नामेंट में कुल 75 प्रतिभागी थे। इनमें 55 बोकारो के 11 ब्लॉक्स से और 20 वेदांता ईएसएल आर्चरी एकेडमी के थे। जिला टूर्नामेंट विजेताओं को इस खेल में राज्य का प्रतिनिधित्व करने का अवसर मिला |

75 प्रतिभागियों में से चंदनकियारी, सेल बोकारो के 25 तीरंदाजों और वेदांता ईएसएल के 15 तीरंदाजों (श्रेणी 9, 14, 17 और वरिष्ठ 21 के तहत) को राज्य स्तरीय टूर्नामेंट के लिए चुना गया।

ईएसएल स्टील लिमिटेड के सीईओ पंकज मल्हान ने कहा, ‘‘ वेदांता-ईएसएल आर्चरी एकेडमी को जिला टूर्नामेंट के लिए बोकारो जिला तीरंदाजी संघ से करार पर हमे गर्व है। टूर्नामेंट में कुशल तीरंदाजों की भागीदारी दिखी जिनका इस खेल में जुनून रहा है। हम इस आयोजन से युवाओं को खेल के प्रति प्रोत्साहित कर रहें हैं और आगे भी ऐसे अन्य प्रयास करते रहेंगे और आशा है ये खिलाड़ी झारखंड की खेल परंपरा को नया मुकाम देंगे।’’

ईएसएल ने सियालजोरी में चार महीने पहले आर्चरी एकेडमी की स्थापना की जिसका मकसद झारखंड में इस खेल की सुबिधाओ को बढ़ावा देना है। झारखंड तीरंदाजी के खेल में सक्रिय रहा है और इस राज्य ने कुछ बेहतरीन प्रतिभाओं को जन्म दिया है। आज इस अत्याधुनिक एकेडमी में खिलाड़ियों के ठहरने, भोजन, यूनिफाॅर्म और चिकित्सा के साथ खेल विशेषज्ञ से प्रशिक्षण लेने जैसी सभी सुविधाएं है। यह बोकारो और आसपास के बच्चों और युवाओं के लिए उनके नजदीक उत्कृष्ट एकेडमी है जहां उनके कौशल और प्रतिभा निखार कर उन्हें भविष्य में शानदार प्रदर्शन के लिए तैयार किया जाता है।

बोकारो जिला तीरंदाजी संघ के अध्यक्ष अनिल कुमार ने कहा, ‘‘तीरंदाजी का खेल खास कर ग्रामीण क्षेत्रों में सरकार की प्राथमिकता रही है। माननीय प्रधानमंत्री ने 2024 ओलंपिक खेलों में स्वर्ण पदक हासिल करने का लक्ष्य दिया है। इस मकसद से प्रत्येक राज्य के लिए ‘एक राज्य एक खेल’ की रणनीति बनाई गई है। झारखंड के लिए तीरंदाजी का खेल चुना गया है। ईएसएल द्वारा आर्चरी एकेडमी खोलना और टूर्नामेंट का आयोजन करना इस दिशा में बड़ी पहल है जिससे प्रधानमंत्री का सपना सफल होगा। यह स्थानीय तीरंदाजों के लिए श्रेष्ठ मंच होगा और इससे खेल प्रतिस्पर्धा की भावना बढ़ेगी। युवा तीरंदाज राज्य का प्रतिनिधित्व कर पाएंगे और मुमकिन है भविष्य में देश के लिए खेलंे।

 

Previous
Next

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*