डिजिटल पेमेंट को तेजी देने के लिए कैट ने आज दिल्ली में किया डिजिटल रथ लांच

pos1

कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री बी.सी.भरतिया एवं राष्ट्रीय महामंत्री श्री प्रवीन खंडेलवाल ने बताया की कैश लेस बनो इंडिया अभियान के इस चरण में यह रथ ग्वालियर, झाँसी, कानपुर, कोलकाता,पॉन्डिचेरी,नागपुर,भोपाल, पुणे, नवी मुंबई और मुंबई शहरोंमें जायेगा ! प्रत्येक शहर में कैट के व्यापारियों की टीम स्थानीय व्यापारिक संगठनों के माध्यम से अधिक से अधिक व्यापारियों को डिजिटल पेमेंट अपनाने के लिए प्रेरित करेगी ! वहीँ देश के अन्य शहरों में भी यह अभियान साथ साथ चलाया जायेगा !इस अभियान के अंतर्गत डिजिटल पेमेंट से जुड़ने वाले व्यापारियों एवं डिजिटल पेमेंट से लेन देन करने वाले उपभोक्ताओं को ड्रा के माध्यम से प्रोत्साहन  पुरस्कार भी दिए जाएंगे !

श्री भरतिया एवं श्री खंडेलवाल ने कहा की व्यापारी वर्ग देश की अर्थव्यवस्था की रीड़ की हड्डी है और इस वजह से यह अभियान व्यापारी वर्ग के बीच लेन-देन को और  अधिक  विश्वसनीय एवं  पारदर्शी बनाएगा तथा टेक्नोलॉजी के उपयोग से व्यापारीडिजिटल अर्थव्यवस्था का लाभ ले सकेंगे ! उन्होंने कहा की ऐसे समय में जब देश डिजिटल इंडिया की ओर बढ़ रहा है ऐसे में डिजिटल पेमेंट इसका मुख्य केंद्र है और कैश लेस बनो इंडिया अभियान व्यापारियों को डिजिटल पेमेंट से पूरे तौर पर जोड़ेगा !

उन्होंने कहा की डिजिटल अर्थव्यवस्था में व्यापारियों का बहुत ही अहम् रोल है क्योंकि उपभोक्ताओं से सीधा संपर्क होने के कारण व्यापारी अर्थव्यवस्था के केंद्र में है ! नोटबंदी से लेकर अब तक पिछले एक वर्ष में कैट ने देश भर में डिजिटल पेमेंट कोअपनाये जाने हेतु लगातारबड़ी संख्या में देश भर में सेमिनार, वर्कशॉप एवं सम्मेलन आयोजित करते हुए डिजिटल पेमेंट का एक वातावरण तैयार किया है ! डिजिटल रथ के माध्यम से अब और अधिक तेजी से व्यापारियों को इस मुद्दे से जोड़ा जासकेगा !

मास्टरकार्ड के वाईस प्रेजिडेंट श्री रोहन मिश्रा ने  कहा की कैट के साथ मिलकर हम संयुक्त रूप से भारत को एक कैश लेस सोसाइटी में परिवर्तित करने के लिए लगातार प्रयत्नशील है और छोटे व्यापारी नकद आधारित अर्थव्यवस्था से नकद रहितअर्थव्यवस्था तक देश को ले जाने में एक बड़ी भूमिका निभा सकते हैं ! मास्टरकार्ड ने वर्ष 2020 तक भारत में 4 करोड़ लोगों को डिजिटल पेमेंट से जोड़ने का लक्ष्य निर्धारित किया हुआ है !

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*