पुण्यतिथि पर किशोर कुमार को दी गयी सुरमयी श्रद्धांजलि

बोकारो। फिल्म संगीत के सुप्रसिद्ध पाश्र्वगायक किशोर कुमार की पुण्यतिथि के अवसर पर मंगलवार की शाम सेक्टर 12 में संगीत संध्या आयोजित कर बोकारो के कलाकारों ने उन्हें सुरमयी श्रद्धांजलि दी। ख्याति प्राप्त गायक अरुण पाठक, गायिका रंजू सिंह, गायक रमण कुमार, अमोद श्रीवास्तव, मनन ने किशोर कुमार के गाए कुछ यादगार नग्मों की प्रस्तुति से उन्हें श्रद्धांजलि दी। कार्यक्रम की शुरुआत किशोर कुमार की तस्वीर पर माल्यार्पण से हुई।
अरुण पाठक ने कहा कि किशोर कुमार बहुमुखी प्रतिभा के धनी थे। फिल्म संगीत को लोकप्रियता दिलाने में उनका योगदान सदैव स्मरणीय रहेगा। फिल्मों में पाश्र्वगायन के साथ ही अभिनय के लिए भी वह सदैव याद किए जाएंगे। नीरज इंटरप्राइजेज के निदेशक नीरज चौधरी ने कहा कि किशोर कुमार मस्ती भरे गीतों के लिए जाने जाते हैं। उनके गाए गीत आज भी संगीत प्रेमियों को मुग्ध कर देते हैं। अभिनय, निर्देशन आदि क्षेत्रों में भी किशोर दा ने अपनी प्रतिभा की छाप छोड़ी।
अरुण पाठक ने ‘मेरे मेहबूब कयामत होगी…’, ‘रूप तेरा मस्ताना, प्यार मेरा दीवाना…’, ‘चिंगाड़ी कोई भड़के…’, ‘मेरे नैना सावन भादो…’, ‘रिमझिम गिरे सावन…’ व गायिका रंजू सिंह के साथ युगलगीत ‘तेरे मेरे मिलन की ये रैना…’, ‘कोरा कागज़ था ये मन मेरा…’ सुनाकर सबको मंत्रमुग्ध कर दिया। रमण कुमार ने ‘कभी बेकसी ने मारा…’, ‘मेरे दीवानेपन की भी दवा नहीं…’, मनन ने ‘तेरी भींगी भींगी सी…’, अमोद श्रीवास्तव ने ‘जीवन के दिन छोटे सही…’, ‘समां है सुहाना सुहाना…’ व रंजू के साथ युगलगीत ‘देखा एक ख्वाब तो ये सिलसिले हुए…’ की सुमधुर प्रस्तुति से किशोर कुमार को श्रद्धांजलि दी।

 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*