मिथिला सांस्कृतिक परिषद में सामा-चकेवा पर्व का आयोजन 29 को

बोकारो। ‘धान… धान… छै, भैया कोठी धान छै। चुगिला कोठी भुस्सा छै, भैया मुख पान छै, चुगिला मुख अंगोर ढारू हो।’ इसी तरह के गीतों के साथ भाई-बहन के स्नेह और पति-पत्नी के स्वधर्म निर्वहन से जुड़े मिथिला के पारम्परिक पर्व सामा-चकेवा की इन दिनों बोकारो के समस्त मैथिल बहनो के घर धूम मची है। विधिपूर्वक गीतनाद किये जा रहे हैं। रविवार, 29 नवम्बर को मैथिल पंचांगानुसार विधिवत विसर्जन के साथ यह पर्व संपन्न होगा। बोकारो में मैथिलों की प्रतिष्ठित संस्था मिथिला सांस्कृतिक परिषद हर साल की भांति इस बार भी सामा-चकेवा पर्व पूरे उत्साह व भव्यता के साथ मनाने जा रही है। 29 नवंबर (रविवार) की संध्या साढ़े छह बजे से लेकर साढ़े आठ बजे तक सेक्टर-4ई स्थित परिषद के प्रांगण में भव्य पारम्परिक आयोजन किया जायेगा। इसके तहत मैथिल महिलायें व बहनें गीतनाद के साथ सामा-चकेवा का विसर्जन करेगीं। परिषद के महासचिव अविनाश कुमार झा ने अधिकाधिक मैथिलों से उक्त कार्यक्रम में शामिल होने की अपील की है।

आयोजन की तैयारियों को लेकर गुरुवार की शाम मिथिला एकेडमी पब्लिक स्कूल के सभागार में परिषद् कार्यकारिणी व आमंत्रित सदस्यों की एक बैठक परिषद् के अध्यक्ष अनिल कुमार की अध्यक्षता में हुई। बैठक में सामा-चकेवा पर्व की तैयारियों की रूपरेखा को अंतिमरूप देने के साथ ही परिषद् के आगामी कार्यक्रमों में वार्षिक कैलेंडर प्रकाशन, वार्षिक सदस्यता अभियान, सांगठनिक मजबूती, परिषद् के चास स्थित जमीन पर नर्सरी प्ले स्कूल के निर्माण सहित विभिन्न मुद्दों पर चर्चा हुई। बैठक में उपाध्यक्ष राजेन्द्र कुमार, महासचिव अविनाश कुमार झा, सांस्कृतिक कार्यक्रम निदेशक शंभु झा, कोषाध्यक्ष प्रदीप कुमार झा, प्रेस सचिव अरुण पाठक, संगठन सचिव गोविंद कुमार झा, सहायक सचिव अविनाश झा अवि, सुनील चौधरी सहित विवेकानंद झा, बहुरन झा, नीरज चौधरी, उषा झा, कंचन झा, प्रीति राय, मिथिला एकेडमी पब्लिक स्कूल के सचिव रवीन्द्र झा, मिथिला महिला समिति की अध्यक्ष अंजु झा, किरण मिश्रा, मनोज कुमार झा उपस्थित थे।

 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*