राजेन्द्र बाबू की जयंती पर चित्रगुप्त महापरिवार ने उन्हें याद किया

बोकारो:  चित्रगुप्त महापरिवार समिति, बोकारो जिला के तत्वधान में प्रथम राष्ट्रपति व भारत रत्न डाॅ राजेन्द्र प्रसाद को याद किया। इस अवसर पर सेक्टर पांच स्थित लाईबरेरी गाउंड में राजेन्द प्रसाद की मुर्ति को मालार्पण किया।

समिति के मुख्य सलाहाकार अरूण कुमार सिन्हा ने कहा कि राजेन्द्र प्रसाद कायस्थ रत्न थे। भारत के संविधान समिति के वे पहले अध्यक्ष थे। देश के स्वतंत्रता संग्राम व भारत के भविष्य को गढ़ने में उनका महत्वपुर्ण योगदान था। समिति के महिला जिलाध्यक्षा  डाॅ मीरा सिन्हा ने कहा कि राजेन्द्र बाबू एक प्रकंड पंडित थे। प्रसाद जी सादगी, ईमानदारी, कर्मठता, विद्वता, देशभक्ति के प्रतिमूर्ति थे।

इतिहास की जानकार रेणूका सिन्हा ने कहा कि राजेन्द्र जी के योगदान को उस समय के शासन में बैठे लोगों ने सही सम्मान नहीं दिया। उनके योगदान को प्रकाश में नहीं आने दिया। जबकि राजेन्द्र प्रसाद का संविधान गढ़ने में महत्वपुर्ण योगदान रहा। उनके द्वारा किए गए कार्यों को प्रकाश में लाना ही उनको सच्ची श्रद्धंाजली होगीं।

कार्यक्रम का संचालन समिति के महासचिव भईया प्रीतम ने किया। उनके जयंती के अवसार पर सभी सदस्यों ने मिठाई बांटकर मनाया। इस अवसर पर ज्योति नाथ, मिडिया सचिव रजत नाथ, रतनलाल, उमेश प्रसाद, अरविंद कर्ण व अन्य उपस्थित रहे।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*