लंदन के प्रसिद्ध केव गार्डन के तर्ज पर बोकारो में बनेगा ओलंपिक गार्डन

आशीष सिन्हा । बोकारो : बोकारो को जल्द ही एक अनोखा ओलंपिक गार्डन मिल सकता है, जो लंदन के प्रसिद्ध केव गार्डन या रॉयल बॉटैनिकल गार्डन के तर्ज पर होगा। यहां रंग-बिरंगी फूलों से बने ओलंपिक रिंग (पांच रंगों में) मुख्य आकर्षण केंद्र होंगे जो लोगों को लुभाएंगे। एक अधिकारी ने कहा कि यह देश में अपनी तरह का पहला बगीचा हो सकता है।

बोकारो स्टील प्लांट (ठैस्) के महानिदेशक, अमरेंद्र प्रकाश ने शनिवार को बोकारो स्टील सिटी में ओलंपिक गार्डन अवधारणा के लिए प्रमुख मंजूरी दे दी है।

एक अधिकारी ने बतलाया कि, हमने बगीचे को विकसित करने के लिए चार-पांच स्थानों की पहचान की है, जो आसानी से राहगीर या आगंतुकों को दिखाई देंगे।

जयदीप सरकार, ग्लोबल एक्टिव पार्टनर सिटी के लीड ऑफिसर और ओलंपिक बिरादरी के सदस्य ने बतलाया कि “बहुत जल्द, बोकारो की पहचानएक सुंदर उद्यान से की जाएगी, जो शहर के नागरिकों के साथ-साथ आगंतुकों के लिए भी एक आकर्षण-बिन्दु होगा। यह भारत के पहले वैश्विक सक्रिय भागीदार शहर के खेल के माहौल को बढ़ाएगा।

इसकी जिम्मेदारी अंजनी कुमार सिन्हा, स्वदेशी जागरण मंच के अमृत कृषि के राज्य प्रमुख, सीआईएसएफ एवं बोकारो के बागवानी विभाग को दी गयी है।

इस बगीचे में प्रतिष्ठित ओलंपिक के छल्ले पांच रंग के फूलों से निर्मित होंगे जो केव ओलंपिक गार्डन, लंदन के तर्ज पर होंगे। प्रस्तावित गार्डन में इस्तेमाल होने वाले फूलों के पौधों के प्रकारों में शामिल हैं- पीलाः फ्रेंच मैरीगोल्ड (टैगेट्स पटुला)य नीलारू गार्डन लोबेलिया (लोबेलिया एरिनस)य लालरू पेलार्गोनियम जीरियमय ग्रीनरू ऐप्पल मिंट (मेंथा सवेवोलेंस) और ब्लैकरू लिलिर्टफ (ओफीओपोगोन प्लेसिसेपस)।

विशेष रूप से, बोकारो स्टील सिटी को हाल ही में च्ंतजदमत ग्लोबल एक्टिव पार्टनर सिटी ’मानक से सम्मानित किया गया थाय अब यह स्थान पाने वाला भारत का पहला शहर और एशिया का दूसरा शहर बन गया है। एशिया में तुर्की का करासियाका पहला शहर है, जिसे एक प्रतिष्ठित मानक मिला है।

अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति (प्व्ब्) द्वारा संरक्षित और समर्थित श्न्यूक्लियस मिशनश् के तहत, बोकारो स्टील सिटी ग्लोबल एक्टिव प्रोग्राम प्रोग्राम से जुड़ा है। यह नाभिक परियोजना (आईओसी के माध्यम से) बोकारो शहर को ओलंपिक के तहत कार्रवाई से जोड़कर समाज को एक नई दिशा देने का एक प्रयास है ताकि बोकारो जिले के निवासियों को एक स्वस्थ और कार्यात्मक वातावरण के माध्यम से विभिन्न क्षेत्रों में तैयार किया जा सके।

बोकारो स्टील सिटी एक योजनाबद्ध शहर है जो बोकारो स्टील प्लांट (बीएसएल) द्वारा स्थापित और रखरखाव किया जाता है और इसे श्एजुकेशनलश् और श्स्टीलश् हब के रूप में जाना जाता है। अब शहर ‘स्पोर्ट्स हब’ के रूप में बदल रहा हैय आईओसी समिति द्वारा प्रायोजित श्एक्टिव वेल-इनिशिएटिव नेटवर्क की विश्वव्यापी सूची में जगह मिली।

जन कल्याण के लिए खेल और आयोजनों को बढ़ावा देने के लिए, बोकारो स्टील के टाउनशिप क्षेत्र और इसकी परिधि में लगभग 39 खेल केंद्र जल्द ही विकसित किए जाने थे। इन सभी खेल केंद्रों को खेल गतिविधियों के लिए विकसित किया जाएगा जिसमें वॉलीबॉल, बैडमिंटन, हैंडबॉल, क्रिकेट, फुटबॉल, हॉकी, कबड्डी शामिल हैं और पैदल ट्रैक के लिए उन्होंने कहा। जयदीप ने कहा, हमारा उद्देश्य खेल के माध्यम से एक स्वस्थ शहर और स्वस्थ समाज का निर्माण करना है ताकि हमारे नागरिक और आने वाली पीढ़ी हर क्षेत्र में अव्वल बन सके। सेल बोकारो ने वार्षिक खेल और सांस्कृतिक कैलेंडर लॉन्च किया हैय बोकारो प्रशासन के साथ घनिष्ठ सहयोग में 24 जनवरी को सेल स्थापना दिवस के उपलक्ष्य में कई खेल आयोजनों और आयोजनों की शुरुआत की। इससे पहले, अपने नए साल संदेश के प्रभारी निदेशक ने वर्ष 2021 को ष्खेल और कल्याण का वर्षष् भी घोषित किया है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*