संस्कार भारती के ऑनलाइन प्रांतीय कला साधक संगम में कलाकारों व कवियों ने बिखेरी छटा

बोकारो। कला व साहित्य की अखिल भारतीय संस्था संस्कार भारती की झारखंड प्रांत इकाई के तत्वावधान में आयोजित ऑनलाइन प्रांतीय कला साधक संगम की तीसरी कड़ी की प्रस्तुति गुरुवार की शाम फेसबुक पेज रीझ रंग झारखंड पर हुई। तीसरी कड़ी में बोकारो, साहिबगंज, दुमका, जमशेदपुर, हजारीबाग सहित अन्य जिलों के कलाकारों व साहित्यकारों की प्रस्तुतियों का आनंद कला व साहित्यप्रेमियों ने लिया।
संस्कार भारती, बोकारो महानगर इकाई के साहित्य प्रमुख सह मीडिया प्रभारी अरुण पाठक ने अपनी रचना मैथिली होली गीत ‘होली पावनि अछि मनभावन एकरा सभ मिलि संग मनाउ…’ सुनाकर सबको आनंदित किया। बोकारो की कवयित्री महाश्वेता ने वसंत को समर्पित प्रणय गीत ‘ये गंुजन ये गायन ये सौंदर्य सुहावन तुम्हारे लिए है..’ सुनाकर सबकी दाद पाई। जमशेदपुर की डाॅ आशा गुप्ता ने वसंत ऋतु पर श्रृंगार गीत ‘तुम्हारे आने से साथ मंद हवा कुछ यूं ही गुनगुना उठी…’, साहिबगंज की श्वेता कुमारी ने सरस्वती वंदना, दुमका के अमरेन्द्र सुमन ने देशभक्ति रचना, संदीप ने जनजातीय लोकनृत्य, अपर्णा सिंह सहित अन्य कवि-कवयित्रियों ने काव्यपाठ कर सबकी प्रशंसा पाई। संस्कार भारती हजारीबाग इकाई की प्रस्तुति गीत ‘मांदर बाजै..’, साहिबगंज की शांभवी सिंह ने ‘वंदेमातरम्’ सहित विभिन्न इकाईयों की ओर से प्रस्तुत नृत्य व देशभक्ति गीत भी प्रशंसनीय रहे। कार्यक्रम का संचालन डाॅ किशोर कुमार गुप्ता ने किया।
संस्कार भारती के प्रांत महामंत्री संजय कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि भारतीय कला व साहित्य को समर्पित संस्कार भारती द्वारा कोरोनाकाल को देखते हुए ऑनलाइन प्रांतीय कला साधक संगम का आयोजन किया गया। जिसका आॅनलाइन उद्घाटन 28 फरवरी को झारखंड के फेसबुक पेज ‘रीझ रंग, झारखंड’ से पद्मश्री से सम्मानित देश के जाने-माने चित्रकार व पटना आर्ट काॅलेज के सेवानिवृत्त प्राचार्य सह प्रदेश अध्यक्ष, संस्कार भारती दक्षिण बिहार श्याम शर्मा ने किया। संस्कार भारती बोकारो महानगर इकाई के मंत्री अमरजी सिन्हा ने प्रांतीय कला साधक संगम में बोकारो इकाई की सहित अन्य इकाईयों की भागेदारी की सराहना की।

 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*