Skip to Content

Sunday, January 24th, 2021

समाजिक उत्थान में मिथिला परिषद् का योगदान प्रशंसनीयः ठाकुर

Be First!
image_pdfimage_print

बोकारो। बोकारो की प्रतिष्ठित सामाजिक व सांस्कृतिक संस्था मिथिला सांस्कृतिक परिषद् द्वारा रविवार को विद्यापति सम्मान समारोह का आयोजन सेक्टर 4 ई स्थित मिथिला एकेडमी पब्लिक स्कूल के सभागार में किया गया। इस सम्मान समारोह के मुख्य अतिथि बीएसएल के मुख्य महाप्रबंधक (पावर फैसिलिटीज व मैंटिनेंस) सह मिथिला सांस्कृतिक परिषद् के अध्यक्ष कुमुद कुमार ठाकुर ने परिषद् द्वारा पूर्व में आयोजित विद्यापित स्मृति पर्व समारोह में सांस्कृतिक कार्यक्रम व नाटक में शामिल कलाकारों तथा परिषद् के वार्षिक सदस्यता अभियान में उल्लेखनीय योगदान देनेवाले सदस्यों को विद्यापति सम्मान प्रदान किया। शिक्षा के क्षेत्र में विशिष्ट योगदान के लिए इस वर्ष शिक्षक दिवस पर राष्ट्रपति द्वारा राष्ट्रीय शिक्षक सम्मान प्राप्त रामरुद्र प्लसटू उच्च विद्यालय की हिंदी शिक्षिका डाॅ निरुपमा कुमारी को विशेषरुप से प्रशस्ति पत्र व डोपटा भेंट कर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर मिथिला महिला समिति की कलाकार चंदा झा द्वारा बनाई गई मिथिला पेंटिंग भेंट कर परिषद् के अध्यक्ष के के ठाकुर को सम्मानित किया गया।
कार्यक्रम की शुरुआत परिषद् के सांस्कृतिक कार्यक्रम निदेशक अरुण कुमार पाठक द्वारा महाकवि विद्यापति की रचना भगवती वंदना ‘जय-जय भैरवि असुर भयाउनि…’ के गायन से हुई। तत्पश्चात् मुख्य अतिथि परिषद् के अध्यक्ष के के ठाकुर, परिषद् के महासचिव राजेन्द्र कुमार, मिथिला महिला समिति की अध्यक्ष अंजू झा व शिक्षिका डाॅ निरुपमा कुमारी द्वारा दीप प्रज्ज्वलन किया गया। स्वागत भाषण में परिषद् के महासचिव राजेन्द्र कुमार ने अपने संबोधन में परिषद् द्वारा वर्ष 2017-20 के दौरान परिषद् द्वारा आयोजित प्रमुख कार्यक्रमों व गतिविधियों पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि मिथिला सांस्कृतिक परिषद् विगत 5 दशक से अधिक समय से सामाजिक व सांस्कृतिक उन्नयन के लिए कार्य कर रही है। उन्होंने बताया कि परिषद् के वर्तमान कार्यसमिति का कार्यकाल समाप्त होने के बाद अब नयी कमिटी के गठन हेतु रविवार, 27 सितंबर को परिषद् की आमसभा बुलाई गयी है।
मुख्य अतिथि श्री ठाकुर ने अपने संबोधन में कहा कि परिषद् द्वारा समाज व संस्कृति के उत्थान हेतु किए गए कार्य प्रशंसनीय हैं। इसमें परिषद् कार्यकारिणी के साथ ही समाज के लोगों का सहयोग सराहनीय रहा। उन्होंने कहा कि परिषद् द्वारा इस सम्मान समारोह का आयोजन प्रशंसनीय व अनुकरणीय है।
सांस्कृतिक कार्यक्रम में भागीदारी के लिए गायक अरुण पाठक, पूजा झा, रंजना राय, प्रशंसा, अक्षिता पाठक, प्राची झा, मिथिला महिला समिति की अंजू झा, अमिता झा, किरण मिश्रा, आशा झा, पूनम मिश्रा, जयंती पाठक, चंदा झा, भारती झा, पूनम सिंह, व प्रीति राय को सम्मानित किया गया। नाटक ‘इजोत’ में अभिनय के लिए सुमन मिश्रा, सुनील मोहन ठाकुर, अंजलि चैधरी, अमरजीत चैधरी, कमलेश मिश्र, विवेकानंद झा, वीएन ठाकुर, नाटक के लेखक अमन कुमार झा, निर्देशक राजेन्द्र कुमार व शंभु झा, पाश्र्व संगीत के लिए चंद्रकांत मिश्र, प्राॅम्प्टर रमण कुमार ठाकुर, प्रकाश व्यवस्था गंगेश कुमार पाठक व रमण कुमार झा तथा परिषद् के वार्षिक सदस्यता अभियान में सहयोग के लिए भूषण पाठक, राम जीवन मंडल, भृगुनंदन ठाकुर, अमरजीत चैधरी, विजय कुमार ठाकुर, अमन कुमार झा, मिहिर मोहन ठाकुर, शिव शंकर झा, विजय कुमार मिश्र, पशुपति झा, विश्वनाथ झा, अभय कुमार झा, चतुरानंद पाठक, मनोज कुमार झा व प्रकाश झा को सम्मानित किया गया। मंच संचालन शक्षिका रागिनी झा व ज्योति सिंह ने तथा धन्यवाद ज्ञापन परिषद् के कोषाध्यक्ष विवेकानंद झा ने किया। कार्यक्रम के अंत में हाल ही में दिवंगत हुए परिषद् के पूर्व अध्यक्ष डाॅ जयानंद मिश्र व परिषद् सदस्य डाॅ एसडी झा को श्रद्धांजलि दी गयी। दो मिनट का मौन रखकर दिवंगत आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की गयी।

 

Previous
Next

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*