Skip to Content

Tuesday, November 30th, 2021

साहित्यलोक व मिथिला सांस्कृतिक परिषद् ने दी महाकवि दयाकान्त झा को काव्यमय श्रद्धांजलि

Be First!
image_pdfimage_print

arnu-pबोकारो। चर्चित साहित्यिक संस्था साहित्यलोक व प्रतिष्ठित सामाजिक व सांस्कृतिक संस्था मिथिला सांस्कृतिक परिषद् के संयुक्त तत्वावधान में दिवंगत कवि दया कान्त झा को समर्पित ‘काव्य श्रद्धांजलि’ कार्यक्रम का आयोजन सेक्टर 4 स्थित मिथिला एकेडमी पब्लिक स्कूल के सभागार में आयोजित हुआ। दो सत्रों में आयोजित इस कार्यक्रम के प्रथम सत्र में दीप प्रज्ज्वलन व महाकवि दया कान्त झा की तस्वीर पर पुष्पार्चन के बाद साहित्यलोक के संस्थापक महासचिव तुलानंद मिश्र, परिषद् के महासचिव राजेन्द्र कुमार, पूर्व महासचिव हरिमोहन झा, सतीश चंद्र झा, परिषद् के सांस्कृतिक कार्यक्रम निदेशक अरुण पाठक, साहित्यलोक के संयोजक अमन कुमार झा सहित साहित्यकार राम नारायण उपाध्याय, डॉ परमेश्वर भारती, विजय शंकर मल्लिक, डॉ निरुपमा कुमारी, अमीरीनाथ झा ‘अमर’, श्रवण कुमार झा, स्व. झा के पुत्र शिव कुमार झा व अनिल कुमार झा ने महाकवि के जीवन व साहित्यक कृतियों के बारे में चर्चा की।

वक्ताओं ने कहा कि महाकवि दया कान्त झा एक विशिष्ट साहित्यकार थे। उनकी विद्वता, व्यवहार कुशलता व सादगीपूर्ण जीवन के सभी कायल थे। उनके लिखे तीन महाकाव्य ‘प्रणय-परीक्षा’, ‘निष्प्राण-स्वप्न’ व ‘पांचाली-परिणय’ चर्चित व प्रशंसित हैं। महाकवि दयाकान्त झा मैथिली, संस्कृत व हिन्दी तीनों भाषाओं में लिखते थे। तुलानन्द मिश्र ने कहा कि साहित्यलोक से वे प्रारंभ से ही जुड़े हुए थे। सहज, सरल व सौम्य व्यवहार के धनी और साहित्य लेखन में गहरी पैठ रखनेवाले महाकवि का जाना साहित्यजगत के लिए बहुत बड़ी क्षति है। हरिमोहन झा ने कहा उनकी साहित्यिक प्रतिभा अद्भुत थी। उनके लिखे महाकाव्यों का जो स्तर है उसे देखते हुए उन्हें साहित्य अकादमी पुरस्कार मिलना चाहिए था। प्रारंभ में स्वागत भाषण परिषद् के महासचिव राजेन्द्र कुमार तथा प्रथम सत्र का संचालन डॉ निरुपमा कुमारी ने किया।

दूसरे सत्र में डॉ परमेश्वर भारती की अध्यक्षता व डॉ रणजीत कुमार झा के संचालन में कवियों ने काव्यपाठ के माध्यम से महाकवि दया कान्त झा को श्रद्धांजलि दी। काव्यपाठ करनेवालों में विजय शंकर मल्लिक ‘सुधापति’, नीलम झा, राम नारायण उपाघ्याय,अमीरी नाथ झा ‘अमर’, सतीश चंद्र झा, अरुण पाठक, अमन कुमार झा, डॉ निरुपमा, डॉ रंजीत कुमार झा, विश्वनाथ गोस्वामी आदि शामिल थे। इस मौके पर मिथिला महिला समिति की अध्यक्ष अंजु झा, सचिव उषा झा, किरण झा, परिषद् के पूर्व सचिव दुर्गा नंद झा सहित बटोही कुमार, जगदानंद झा, एन के झा, गंगेश कुमार पाठक, हरिश्चंद्र झा, अमरजीत चौधरी आदि उपस्थित थे।

Previous
Next

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*