हिन्दी है हम सबकी भाषा हिन्दी है जन-जन की भाषा…!

बोकारो। राष्ट्रीय कवि संगम, झारखंड प्रदेश इकाई द्वारा बुधवार की शाम आॅनलाइन कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया। राष्ट्रीय कवि संगम के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगदीश मित्तल, प्रदेश अध्यक्ष सुनील खवाड़े, प्रदेश उपाध्यक्ष उदय शंकर उपाध्याय व प्रदेश महासिचव सरोज झा झारखंडी की गरिमामयी उपस्थिति में प्रान्त सोशल मीडिया प्रभारी सह बोकारो महानगर इकाई के महासचिव ब्रजेश ब्रजवासी के संचालन में गूगल मीट पर आयोजित इस कवि सम्मेलन में राष्ट्रीय कवि संगम, बोकारो महानगर इकाई अध्यक्ष अरुण पाठक, बोकारो की कवयित्री उषा झा, बोकारो जिला इकाई से विनोद कुमार साव, अभि सिंह, जमशेदपुर से डाॅ संध्या सूफी, गिरिडीह से रामकिंकर उपाध्याय, नवीन मिश्र, धनबाद से अनंत महेन्द्र, शालिनी खन्ना, अमृतेश्वर मिश्रा, रामगढ़ से राज रामगढ़ी, रांची से कल्याणी झा, संगीता सहाय, गुमला से प्रेम हरी, स्वप्न कुमार राय, दुमका से उत्तम लायकार, राजीव नयन तिवारी, जामताड़ा से राघवेंद्र सिंह, जयशंकर सिंह सहित कार्यक्रम के समन्वयक व प्रांत सोशल मीडिया सहयोगी पीयूष राज, नितेश सागर व नितेश मिश्र शामिल हुए।

कवि सम्मेलन की शुरुआत सरस्वती वंदना से हुई। अनंत महेन्द्र ने बेटी के आगमन पर अपनी रचना सुनाकर सबकी वाहवाही ली। अरुण पाठक ने हिन्दी की महत्ता पर केंद्रित अपनी कविता ‘हिन्दी है हम सबकी भाषा, हिन्दी है जन-जन की भाषाध्हिन्दी को सम्मान दिलाना हम सबकी उत्कट अभिलाषा…’ सुनाकर सबकी प्रशंसा पाई। उषा झा ने ‘दुआओं की दौलत’, शालिनी खन्ना ने ‘हिंदी अपनी शान है यारों, ये अपनी पहचान है यारों..’ राज रामगढ़ी ने हिंदी पर कविता ‘मां भारत के भाल पर जो चमकती बिंदी है, स्वाभिमान की अलख जगाती अपनी हिंदी है..’, कल्याणी झा ने हिंदी पर मुक्तक, संगीता सहाय ने ‘पीड़ा हिंदी की’, ब्रजेश ब्रजवासी ने वीर रस की कविता सहित अन्य कवि-कवयित्रियों ने विभिन्न रस की कविताएं सुनाकर सबकी दाद पाई।

राष्ट्रीय अध्यक्ष जगदीश मित्तल ने झारखंड प्रदेश इकाई के पुनर्गठन के बाद शामिल हुए नये पदाधिकारियों को बधाई दी और इस आॅनलाइन कवि सम्मेलन के आयोजन के लिए प्रदेश इकाई के पहल की सराहना की। उन्होंने सभी से अपील की कि नये कवि-कवयित्रियों की तलाश कर उन्हें आगे बढ़ने में सहयोग करें। उन्होंने उम्मीद जताई कि झारखंड इकाई के पुनर्गठन के बाद गतिविधियों में और तेजी आयेगी। प्रदेश महासचिव सरोज झा झारखंडी ने सफल आयोजन के लिए संचालक ब्रजेश ब्रजवासी सहित आयोजन से जुड़े सभी लोगों को बधाई दी और इस आयोजन में सहभागी के लिए कवि-कवयित्रियों को धन्यवाद दिया।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*