Skip to Content

Tuesday, February 25th, 2020

PM Narendra Modi inaugurates Sardar Vallabhbhai Patel’s Statue of Unity

Be First!

statue-of-unityPrime Minister Narendra Modi unveiled the ‘Statue of Unity’ in Gujarat’s Narmada district on the birth anniversary of Sardar Vallabhbhai Patel on Wednesday; will be open for public from 1 November. The 182-meter (600 feet) statue of Sardar Vallabhbhai Patel is touted as the world’s tallest. The statue stands on Sadhu island on the Narmada in Gujarat and is said to be twice the height of the Statue of Liberty in the US and surpasses China’s Spring Temple Buddha statue, whose height is 153 meters, as the world’s tallest statue.

Addresses the gathering Modi said, “Events like today are very very important in a country’s history and such events are difficult to erase. It is a historic and inspiring occasion for all Indians. I am fortunate to dedicate this statue of Sardar Sahab to the nation.”

Ram Vanji Sutar (93), a Padma Bhushan and Padma Shri recipient sculpted the Statue of Unity

# करीब 44 माह के रिकार्ड समय में निर्मित इस प्रतिमा पर करीब 2332 करोड़ रुपये की लागत आई।
# प्रतिमा के निर्माण में 70,000 टन सीमेंट, 22,500 टन स्टील व 1,700 मीट्रिक टन तांबा लगा है।
# प्रतिमा भूकंप रोधी है जो 6.5 तीव्रता के भूकंप को सहन कर सकती है और 220 किमी प्रति घंटा की तेज हवा का सामना कर सकती है।
# चार धातुओं से बनी इस प्रतिमा को जंग छू भी नहीं सकेगा। निर्माण में 85 फीसद तांबा का उपयोग किया गया है।
# अमेरिका की स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के निर्माण में पांच साल लगे थे। चीन में बुद्ध की प्रतिमा के निर्माण में करीब 90 साल लगे थे।

# प्रतिमा के पास ही 17 किमी लंबी वैली ऑफ फ्लावर तैयार की गई है। यहां दुनिया के विविध फूलों की किस्म के साथ नमो फूल भी देखे जा सकेंगे।
# 250 एकड़ में बने इस वैली ऑफ फ्लावर में 100 से ज्यादा तरह के पौधे लगाए गए हैं।
# पर्यटकों के लिए एक टेंट सिटी और सरदार पटेल को समर्पित एक म्यूजियम भी बनाया गया है।
# कच्छ की तर्ज पर बने इस टेंट सिटी में 250 टेंट हाउस हैं, तकरीबन 500 लोगों के रूकने की व्यवस्था है। यहां गुजराती और आदिवासी खाने से लेकर नृत्य का लुफ्त भी पर्यटक उठा सकेंगे।
# 55 मंजिला (करीब 600 फीट) प्रतिमा के हृदयस्थल 153 मीटर की ऊंचाई तक लोग लिफ्ट से पहुंचकर वहां से 138 मीटर ऊंचे सरदार सरोवर बांध को देख सकेंगे।
# युवाओं के लिए यहां सेल्फी पॉइंट बनाए गए हैं।

# सरदार वल्लभ भाई पटेल राष्ट्रीय एकता ट्रस्ट जल्द ही एक एप भी जारी करेगा, इसके माध्यम से भी टिकट बुक किया जा सकेगा। दर्शक अगर पूरा नजारा देखना चाहते हैं जिसमें गैलरी, म्यूजियम और वैली ऑफ फ्लॉवर सम्मलित हैं तो उन्हें 380 रुपये अदा करने होंगे। तीन साल से वयस्क तक टिकट की दर 350 रुपये और बस से सफर के 30 रुपये देने होंगे। आप गैलरी नहीं देखना चाहते तो तीन से 15 साल के बच्चों के लिए 60 रुपये, जबकि 15 साल से ऊपर के लोगों के लिए 120 रुपये का टिकट लेना होगा। इसके लिए भी 30 रुपये बस के अलग देने होंगे। एक तीसरे प्रकार का टिकट 120 रुपये का है। इसमें प्रतिमा के पास तक जा सकते हैं, पर ऊपर नहीं जा पाएंगे।

CT – I Net

Previous
Next

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*