Skip to Content

Monday, December 16th, 2019

बीएसएल में कौमी एकता सप्ताह के समापन पर काव्य गोष्ठी आयोजित

Be First!

बोकारो। बोकारो इस्पात संयंत्र में आयोजित कौमी एकता सप्ताह (19-25 नवम्बर) के समापन के अवसर पर सोमवार को अपराह््न इस्पात भवन में एक काव्य गोष्ठी का आयोजन किया गया। वरिष्ठ कवि राम नारायण उपाध्याय की अध्यक्षता एवं डाॅ परमेश्वर भारती के संचालन में आयोजित इस बहुभाषी काव्य गोष्ठी में बोकारो इस्पात नगर के लोकप्रिय कविगण दिलकश बोकारवी, अरुण पाठक, उषा झा, ज्योति वर्मा, विजय बहादुर तिवारी, ज्यार्तिमय डे राणा, कस्तूरी सिन्हा, गिरिधारी गोस्वामी, मीरा जोगी, राजन विश्वेष, मनसा कृष्ण इत्यादि ने कौमी एकता पर केंद्रित अपनी कविताओं से सभी को आकर्षित किया। अरुण पाठक ने अपनी मैथिली कविता ‘जाति-धर्म के नाम पर नहि बांटू इंसान के…’, विजय बहादुर तिवारी ने हिन्दी कविता ‘आओ प्रेम का दीप जलाएं…’, उषा झा ने ‘भारत देश में अब यारों, फैले यूं विद्वेष नहीं/जन-जन को गले लगाएं रखें मन में क्लेश नहीं।’, डाॅ परमेश्वर भारती ने ‘भारत की माटी जग से निराली…’ को श्रोताओं की खूब तालियां मिलीं।
इस कार्यक्रम में बीएसएल के महाप्रबंधक (भंडार) शैलेश कुमार बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित थे। उन्होंने कवियों की प्रस्तुतियों की सराहना की और कहा कि कौमी एकता को कायम रखने में साहित्यकारों की महती भूमिका है। कार्यक्रम के आरंभ में अतिथियों का स्वागत उप महाप्रबंधक (सम्पर्क एवं प्रशासन) शान्ता एच सिन्हा ने तथा अंत में धन्यवाद ज्ञापन प्रबंधक (राजभाषा) बासुदेव रजवार ने किया।

Previous
Next

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*