Skip to Content

संगीतकार पं शिव कुमार शर्मा व शायर कैफी आजमी को दी गयी सुरमयी श्रद्धांजलि

Be First!
image_pdfimage_print

बोकारो : विश्व प्रसिद्ध संतूरवादक व हिन्दी फ़िल्मों के सुप्रसिद्ध संगीतकार पं शिव कुमार शर्मा एवं गीतकार व शायर कैफी आजमी की याद में शुक्रवार की देर शाम सेक्टर 12 बी स्थित संगीतालय में संगीत संध्या का आयोजन कर कलाकारों ने उन्हें सुरमयी श्रद्धांजलि दी. कार्यक्रम में अरुण पाठक ने ‘तुम्हारी जुल्फ के साए में शाम कर लूंगा…’, ‘झुकी झुकी सी नज़र बेकरार है के नहीं… ‘ व अन्य गीत, रमण कुमार ने ‘ये दुनिया ये मेहफिल मेरे काम की नहीं.. ‘, ‘तुम जो मिल गए हो… ‘, कमलेश्वरी ने ‘मिलो ना तुम तो हम घबराए.. ‘ व अन्य गीतों की सुमधुर प्रस्तुति से सबको आनंदित किया.

कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि विज्ञान जागरण समिति, झारखंड के महासचिव राजेन्द्र कुमार ने कहा कि विज्ञान का संगीत व कला के साथ अन्योन्याश्रय संबंध है. उन्होंने पं शिव कुमार शर्मा को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि पं शर्मा संतूर वादन के लिए पूरे विश्व में विख्यात थे. वह संगीत की सेवा के लिए सदैव आदर के साथ याद किए जाएंगे. गायक अरुण पाठक ने कहा कि महान शास्त्रीय संगीतज्ञ पं शिव कुमार शर्मा जी ने विश्व प्रसिद्ध बांसुरी वादक पं हरि प्रसाद चौरसिया जी के साथ ‘शिव-हरि’ नाम से कुल 8 फिल्मों में यादगार संगीत देकर शास्त्रीय संगीत के साथ ही आमजन में लोकप्रिय संगीत की रचना के लिए भी प्रसिद्धि पाई.

कलाकारों ने जाने-माने शायर व हिन्दी फ़िल्मों के प्रख्यात गीतकार कैफी आजमी की पुण्यतिथि पर उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि वह अपनी शायरी व गीतों के लिए सदैव स्मरणीय रहेंगे. रागिनी सिन्हा ने कहा कि कैफी आजमी बहुत अच्छे शायर व गीतकार थे.

Previous
Next

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*