Modi lays Foundation Stones of Rs 27,000 crore development projects in Jharkhand

pm-sindriPrime Minister Narendra Modi laid the foundation stones for several developmental projects worth of Rs 27,000 crore in Jharkhand at Baliapur (Sindri) in Dhanbad on Saturday.

The projects include:

• The revival of Sindri Fertilizer Project of Hindustan Urvarak and Rasayan Ltd. (Rs 7000 crore)
• Gas Distribution Project through the pipeline by GAIL (Rs 226 crore)
• All India Institute of Medical Sciences (AIIMS), Deoghar (Rs 4103 crore)
• International Airport at Deoghar (Rs 441 crore)
• Patratu Super Thermal Power Project (Rs 18,686 crore)

PM also witnessed the Exchange of MoUs for 250 Jan AushadhiKendras.

 

मोदी जोहार के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संबोधन शुरू किया। कहा मेरे प्यारे भाइयों और बहनों भगवान बिरसा मुंडा की वीर धरा को नमन करता हूं। ये धरती जयपाल सिंह मुंडा के संघर्ष और अटल बिहारी वाजपेयी के सपनों की भूमि है। यहां कोयले की खान देश के विकास में भूमिका अदा कर रहीं हैं। आपने आशीर्वाद दिया इसके लिए आपका आभारी हूं। जब चुनाव के समय आया था तब कहा था कि झारखंड को विकास के लिए डबल इंजन की जरूरत है। एक रांची और दूसरा दिल्ली वाला। चार साल में आपने देखा कि दोनों सरकारों ने एक ही दिशा में सबका साथ और सबका विकास लेकर एक लक्ष्य के साथ कदम बढ़ाया। इससे विकास के कैसे पैरा प्राप्त होते हैं इसे आपने भली भांति अनुभव किया है। हमें विश्वास है कि हम सार्वजनिक जीवन में कमा करते हैं। हमारा रास्ता सही है, हमारा इरादा नेक है इसका मानदंड लोकतंत्र में जनसमर्थन होता है। हम मुख्यमंत्री रघुवर दास और उनकी टीम को इसके लिए बधाई देता हूं।पिछले साल जब यहां पंचायतों के चुनाव हुए तो झारखंड की जनता ने भारी समर्थन देकर राज्य और दिल्ली सरकार के प्रति अपने भाव प्रकट कर दिए। 2014 में जब चुनाव में आया था तो कहा था कि झारखंड जो दे रहा है वह ब्याज समेत विकास करके लौटा दूंगा। आज एक के बाद एक जो कदम उठाए हैं उससे यह साफ हो गया है कि दिल्ली में बैठी सरकार झारखंड के विकास के लिए कितनी गंभीर है। दलित, पीडि़त, शोषित और आदिवासी के विकास के लिए हम काम कर रहे हैं। 27 हजार करोड़ रुपये के पांच बड़े प्रोजेक्ट का झारखंड की धरती पर शिलान्यास हो रहा है। सिंदरी में खाद का कारखाना, पतरातू का पावर प्लांट, भोलेनाथ की नगरी देवघर में एयरपोर्ट, एम्स और रांची में पाइप से गैस पहुंचाने का प्रोजेक्ट का एकसाथ शिलान्यास शुरू हो रहा है। इससे कल्पना कर सकते हैं कि झारखंड कितनी तेजी से आगे बढ़ रहा है। काला हीरा भले ही काले रंग में रंगा हो पर उसमें झारखंड में उजाला फैलाने की ताकत है। 18 हजार करोड़ से अधिक की लागत का पतरातू में पावर प्लांट का शिलान्यास किया। यह झारखंड की आर्थिक ताकत बनेगा। यह युवाओं को रोजगार देगा। कोयला खदानों के विस्थापितों को रोजगार मिले। हमें खुशी है कि ऐसे कई युवकों को हमें नियुक्ति पत्र देने का अवसर मिला। हमारा सपना था कि हिंदुस्तान के हर गांव में बिजली पहुंचे। 2014 में इस देश के 18 हजार गांव में सदियों से अंधेरा था। वहां बिजली का खंभा तक नहीं था। इन गांवों को रोशनी देने का हमने बीड़ा उठाया। ये उपेक्षित गांव थे। वोट बैंक की राजनीति करनेवालों को उपेक्षितों की चिंता नहीं होती। हम सबका साथ सबका विकास की बात करते हैं। तय समय सीमा के पहले 18 हजार गांवों में बिजली पहुंचा दी है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*